Tuesday, August 3, 2021
Home धर्म संसार

धर्म संसार

जेंद अवेस्ता

जेंद अवेस्ता पारसियों का धर्मग्रंथ है

0
जेंद अवेस्ता पढ़ने में ऋग्वेद का ही भाग लगता है।   'जेंद अवेस्ता' पारसियों का धर्म ग्रंथ पढ़ने में ऋग्वेद का ही भाग लगता है। भाषाओं में...
KANWAR

KANWAR क्या है क्यों लाते हैं कांवर

2
KANWAR में गंगाजल का क्या महत्व है।   KANWAR श्रावण मास में लाने का प्रचलन सदियों से है। श्रावण माह के प्रत्येक सोमवार को घर के पास वाले...
भुवनेश्वरी

भुवनेश्वरी माँ दस महाविद्याओं में से एक हैं।

0
आदिशक्ति माँ भुवनेश्वरी   माँ भुवनेश्वरी को आदिशक्ति और मूल प्रकृति भी कहा गया है। भुवनेश्वरी देवी दस महाविद्याओं में से एक हैं। दस महा विद्या 1. काली 2. तारा 3. त्रिपुरसुंदरी 4....
ज्योतिर्लिंग

भगवान शिव 12 ज्योतिर्लिंग के रूप में साक्षात विराज मान हैं।

1
भगवान शिव 12 ज्योतिर्लिंग के रूप में साक्षात विराज मान हैं। प्रतिदिन प्रातः 12 ज्योतिर्लिंगों का नाम जपने मात्र से सात जन्मों तक के पाप...
वास्तु शास्त्र

वास्तु शास्त्र

0
वास्तु शास्त्र के देवता वास्तु वास्तु सिर्फ शास्त्र या किसी विशेष धर्म के लिए नहीं है। यह तो एक विज्ञान है हमारे पूर्वजों के द्वारा निर्धारित...
श्री कृष्णा

एक ऐसा महान ग्रंथ जिसे स्वयं भगवान श्री कृष्ण जी ने अर्जुन को सुनाया...

2
एक ऐसा महान ग्रंथ जिसे स्वयं भगवान श्री कृष्ण जी ने अर्जुन को सुनाया था। जब मैंने जाना आत्मा भी होती है और आत्मा में...
Krishna Janmashtami

Krishna Janmashtami जन्माष्टमी क्यों मनाई जाती है।

0
Krishna Janmashtami भगवान श्री कृष्ण का जन्म दिन   Krishna Janmashtami आज भगवान श्री कृष्ण जी का जन्मोत्सव मनाया जा रहा है भारत वर्ष बड़ी खुशी का...
Sri Guru Granth Sahib

Sri Guru Granth Sahib श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी का प्रथम प्रकाश दिवस

0
श्री गुरु ग्रंथ साहिब जी   30 अगस्त 1604 ही के दिन Sri Guru Granth Sahib दा पहली बार प्रकाश स्वर्ण मंदिर गुरुद्वारा श्री अमृतसर सहिब...