Bhutan और भारत की मित्रता दुनिया के लिए एक मिसाल है।

0
109
Bhutan
Bhutan

Bhutan देश भारत का पड़ोसी देश है। यह बौद्ध धर्म का पालन करता है। 1500 ई से 1800 ई तक भूटान पर तिब्बत का अधिपत्य था।

12 वीं शताब्दी में स्थापित ड्रुक्पा कग्युपा सम्प्रदाय आज भी यहाँ का प्रमुख सम्प्रदाय है। 1865 में भूटान और ब्रिटेन के बीच सिनचुलु संधि पर हस्ताक्षर हुआ।

जिसके तहत सीमावर्ती क्षेत्रों के कुछ भूभाग पर बिर्टिश सरकार को भूटान ने कर देना स्वीकार किया।

बिर्टिश सरकार के तहत 1907 में भूटान में राजशाही की स्थापना हुई। जिसके 3 साल बाद 1 और समझौता हुआ।

बिर्टिश सरकार इस बात पर राजी हुई कि हम आपके आंतरिक मामलों में दखल नहीं देंगे किन्तु विदेश नीति इंग्लैंड द्वारा तय की जाएगी।

जब Bhutan आज़ाद हुआ 1947 के बाद यही भूमिका भारत को मिली किन्तु दो साल बाद 1949 में भारत भूटान समझौता हुआ उस समझौते में भारत ने वो सारी भूमि भूटान को लौटा दी जिस पर कभी बिर्टिश सरकार का अधिपत्य था।

किन्तु इस समझौते के तहत भारत को भूटान की विदेश नीति एवं रक्षा नीति में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका दी गई।
इसीलिए भूटान 17 दिसम्बर को 1949 से स्वतंत्रता दिवस मनाता है।

Bhutan
Bhutan

Bhutan की सरकार

गणतंत्र पारंपरिक राजतंत्र

राजा

जिग्मे खेसर नामग्याल वांग्चुक

प्रधानमंत्री

लोतेय त्शेरिंग

भूटान की राजधानी थिम्फु है

भूटान में 2008 में पहला चुनाव हुआ था। भूटान की संसद में 154 सीट हैं।

2001 में तत्कालीन नरेश जिग्मे सिंग्ये वांगचुक ने दैनिक कामकाज का दायित्व निर्वाचित मंत्रिपरिषद को सौंपा था। और 2006 में अपने बेटे के पक्ष में गद्दी त्याग दी।

तत्पश्चात पिता-पुत्र दोनों ने आम भूटानवासियों को समझाने का प्रयत्न किया कि लोकतंत्र उनके लिए क्यों जरूरी है।

यह सच मे बहुत बड़ा क़दम था जहाँ एक ओर राज के लिए आपस में लड़ रहे हैं। वहीं भूटान नरेश ने राज गद्दी छोड़ दी।

आज भी भूटान अपनी संस्कृति समेटे हुए है यहाँ टीवी चैनल इंटरनेट जैसी सुविधाएं कुछ वषों पहले ही पहुंची हैं।

Bhutan
Bhutan

Bhutan और भारत की मित्रता दुनिया के लिए एक मिसाल है।

भारत के सम्बंध भूटान से कितने अच्छे हैं इस बात का अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है।

भूटान की रक्षा नीति और विदेश नीति भारत ही देखता है।

हमारे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी जब पहली बार प्रधानमंत्री बने थे तब उनका पहला विदेश दौरा भूटान था।

और जब दोबारा प्रधानमंत्री का पद संभाला है उसके बाद भी पहला दौरा भूटान ही है।

भूटान का पर्यावरण प्रेम

Bhutan
Bhutan

भूटान में प्लास्टिक पूर्णता बन्द है। भूटान में तम्बाकू, सिगरेट पीना भी पूरी तरह से बंद है।

जो कि भूटान तम्बाकू का दुनिया मे सबसे बड़ा विक्रेता बन सकता है।

Bhutan में 60% क्षेत्र वनों के लिए संरक्षित है और दुनिया मे एक मात्र भूटान देश ऐसा है जहाँ अपने भूभाग की 70% भूमि पर जंगल है।

दुनिया को इस छोटे से देश से बहुत कुछ सीखने की जरूरत है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here